Afghanistan closed airspace amid deteriorating situation, flights canceled from India
दुनिया

बिगड़ते हालात के बीच अफगानिस्तान ने बंद किया हवाई क्षेत्र,भारत की ओर से उड़ान रद

Khaskhabar/अफगानिस्तान में जारी उथल-पुथल के बीच, राष्ट्रीय वाहक एयर इंडिया की काबुल जाने वाली उड़ान की समय में बदलाव किया जाने के बाद खबर मिली है कि अफगान हवाई क्षेत्र बंद हो गया है, जिस कारण भारत की ओर से उड़ान काबुल नहीं जा सकती। 

Khaskhabar/अफगानिस्तान में जारी उथल-पुथल के बीच, राष्ट्रीय वाहक एयर इंडिया की काबुल जाने वाली उड़ान की समय में बदलाव
Posted by khaskhabar

भारत आने के लिए अफगानिस्तान में फंसे लोगों को भी और समय लगने वाला है

समाचार एजेंसी एएनआइ को एयर इंडिया की ओर से बताया गया, ‘अफगान हवाई क्षेत्र बंद होने के कारण फ्लाइट ऑपरेट नहीं हो सकती हैं।’ इससे साफ है कि भारत आने के लिए अफगानिस्तान में फंसे लोगों को भी और समय लगने वाला है। वहीं, अफगान हवाई क्षेत्र बंद होने के कारण एयर इंडिया की एआई 126 शिकागो-दिल्ली उड़ान को खाड़ी हवाई क्षेत्र की ओर मोड़ा गया है।

काबुल के हामिद करजई इंटरनेशनल (HKI) हवाई अड्डे पर दुनिया भर से उड़ान संचालन प्रभावित

एयर इंडिया के एक अधिकारी ने एएनआइ को बताया था, ‘काबुल में मौजूदा स्थिति के कारण एयर इंडिया की उड़ान को काबुल के लिए सुबह 8:30 बजे की बजाय 12:30 बजे के लिए पुनर्निर्धारित किया गया है।’ बता दें कि अफगानिस्तान में जारी उथल-पुथल के कारण काबुल के हामिद करजई इंटरनेशनल (HKI) हवाई अड्डे पर दुनिया भर से उड़ान संचालन प्रभावित है। इसके अलावा बताया गया था कि काबुल जाने वाली सुबह की उड़ान दोपहर को उड़ान भरेगी और जबकि उड़ान कर्मचारियों के साथ दो विमान निकासी के लिए स्टैंडबाय पर भी रखे गए थे।

काबुल हवाईअड्डे का रास्ता रात से ही अवरुद्ध

सूत्रों ने यह भी जानकारी दी कि शहर में जारी हिंसा के कारण काबुल हवाईअड्डे का रास्ता रात से ही अवरुद्ध रहा। सूत्रों ने एएनआइ को बताया, ‘यात्रियों, साथ ही एयरलाइन कर्मचारियों को हवाई अड्डे तक पहुंचने के लिए गंभीर और चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है।’

फ्लाइट क्रू के साथ दो विमान काबुल निकासी के लिए स्टैंडबाय पर

वहीं, भारत सरकार द्वारा एयर इंडिया को काबुल निकासी के लिए दो विमानों को स्टैंडबाय पर रखने के लिए कहा गया है। सरकारी अधिकारी ने एएनआइ को बताया, ‘फ्लाइट क्रू के साथ दो विमान काबुल निकासी के लिए स्टैंडबाय पर हैं। सरकार स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रही है।’

एयर इंडिया काबुल के लिए प्रतिदिन एक उड़ान संचालित

एयरलाइन कर्मचारियों के साथ संचार भी चुनौतीपूर्ण है, क्योंकि शहरों के कई हिस्सों में मोबाइल नेटवर्क चालू नहीं है। बता दें कि एयर इंडिया काबुल के लिए प्रतिदिन एक उड़ान संचालित करती है और एयरलाइन के पास उसके लिए अग्रिम बुकिंग है। विदेश मंत्रालय (MEA), नागरिक उड्डयन मंत्रालय (MoCA) और एयर इंडिया संपर्क में हैं और अफगानिस्तान में स्थिति की लगातार निगरानी कर रहे हैं।

आंदोलन जल्द ही अफगानिस्तान के इस्लामी अमीरात की पुन: स्थापना की घोषणा करेगा

इससे पहले, एयर इंडिया पायलट एसोसिएशन (आईसीपीए) के महासचिव कैप्टन टी प्रवीण कीर्ति ने नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को काबुल (अफगानिस्तान) से भारतीयों और अन्य लोगों को निकालने के संबंध में एक पत्र लिखा था।रिपोर्टों से पता चलता है कि आंदोलन जल्द ही अफगानिस्तान के इस्लामी अमीरात की पुन: स्थापना की घोषणा करेगा।

यह भी पढ़े —भारत में ड्रोन उड़ाने से पहले ये जान लें वरना लग सकता है 1 लाख रुपये का जुर्माना

देश में अनिश्चित परिस्थितियों के कारण अफगानिस्तान के हवाई क्षेत्र से बचने का आदेश

वहीं, यूएई, फ्लाई दुबई ने देश में संघर्ष के कारण काबुल के लिए अपनी सेवाएं निलंबित कर दी और ब्रिटिश एयरवेज ने अपने सभी पायलटों को देश में अनिश्चित परिस्थितियों के कारण अफगानिस्तान के हवाई क्षेत्र से बचने का आदेश दिया है। तालिबान आतंकवादी अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर नियंत्रण कर चुके हैं और देश के राष्ट्रपति अशरफ गनी के ताजिकिस्तान भाग जाने के बाद राष्ट्रपति भवन पर भी कब्जा कर लिया गया है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|