suez-canal-traffic-briefly-stopped-after-oil-tanker-loses-power
कारोबार दुनिया

स्वेज नहर में ‘ट्रैफिक जाम’,तेल टैंकर का बीच रास्ते में पॉवर ऑफ,इस महिला कप्तान को समझ लिया जिम्मेदार

Khaskhabar/मिस्र के पास स्वेज नहर में फंसे विशालकाय मालवाहक जहाज की तस्वीरें दुनिया भर में छाई रहीं। इस कार्गो शिप के नहर में फंसने की वजह से करीब एक सप्ताह तक इस मार्ग पर यातायात बाधित रहा। मार्ग बंद होन से दुनिया के कई हिस्सों में तेल एवं गैस की आपूर्ति प्रभावित होने लगी और इनके दाम चढ़ने लगे। जहाज के फंसने के पीछे वजह बताई गई कि तेज हवा के झोकों के चलते जहाज की दिशा बदल गई और वह दोनों किनारों पर फंस गया।

Khaskhabar/मिस्र के पास स्वेज नहर में फंसे विशालकाय मालवाहक जहाज की तस्वीरें दुनिया भर में छाई रहीं। इस कार्गो शिप के नहर में फंसने की वजह से करीब एक सप्ताह तक इस मार्ग पर यातायात बाधित रहा। मार्ग बंद होन से दुनिया के कई
Posted by khaskhabar

कैप्टन मारवा सेलेहदार ने बताई पूरी कहानी

अब कंटेनर शिप के फंसने के बारे में एक और कहानी सामने आई है। दरअसल, मिस्र की पहली महिला शिप कैप्टन मारवा सेलेहदार ने खुलासा किया है कि इस घटना के बाद इंटरनेट पर उनके बारे में ‘फर्जी’ खबर चलाई गई। इस ‘फर्जी’ रिपोर्ट में उन्हें नहर का मार्ग जाम करने के लिए जिम्मेदार बताया गया। 

इंचेप शिपिंग सेवा के एक ईमेल के अनुसार, रमफोर्ड नाम के एक तेल के टैंकर के फंसने से थोड़ी देर के लिए स्वेज नहर में जाम लगा. इसके बाद छोटी नावों को इसे बाहर निकालने के लिए भेजा गया, जिन्होंने सफलतापूर्वक इसे बाहर निकाल दिया और नहर का रास्ता साफ हो गया. इस टैंकर का पॉवर बंद हो गया था, जिस कारण ये बीच में ही रुक गया. बता दें कि 23 मार्च को 400 मीटर लंबा एवरगिवन मालवाहक जहाज स्वेज नहर में फंस गया. इस कारण नहर के दोनों हिस्सों पर बड़ी संख्या में जहाजों का अंबार लग गया. एक सप्ताह बाद इसे सफलतापूर्वक नहर से बाहर निकाला गया.

अलेक्जेंड्रिया में ड्यूटी कर रही थीं मारवा

दरअसल, एवर गिवेन नाम का यह कंटेनर शिप जब स्वेज नहर में फंसा था उस समय 29 साल की मारवा सैकड़ों मील दूर भूमध्यसागर के अलेक्जेंड्रिया में ड्यूटी कर रही थीं। रिपोर्ट के मुताबिक, ‘मैं देखकर हैरान रह गई। मुझे लगा कि मैं इस फील्ड में एक सफल महिला कप्तान हूं या मैं मिस्र से हूं, इसलिए मुझे निशाना बनाया गया। फिलहाल मुझे क्यों निशाना बनाया गया, उसके बारे में निश्चित रूप से कुछ नहीं कह सकती।

स्वेज नहर से होता है 12 फीसदी व्यापार

एवरगिवन के नहर में फंसने के बाद सैकड़ों की संख्या में मालवाहक जहाजों को इंतजार करते देखा गया. मंगलवार को एक बार फिर लगे जाम ने ये दिखाया है कि जब नहर का नियंत्रण मिस्र के अधिकारियों के हाथों से बाहर होता है तो इस रास्ते में ट्रैफिक बाधित होने का खतरा उत्पन्न हो जाता है. स्वेज नहर के जरिए दुनिया का 12 फीसदी व्यापार किया जाता है. ये नहर एशिया और यूरोप के बीच की समुद्री दूरी को दो सप्ताह तक कम कर देती है.

कंटेनर शिप चलाती हैं 

मारवा दुनिया की उन दो प्रतिशत महिलाओं में शुमार हैं जो कंटेनर शिप चलाती हैं। उन्होंने कहा, ‘हमारे समाज में अभी भी कुछ ऐसे लोग हैं जो नहीं चाहते कि महिलाएं अपने परिवार से दूर होकर लंबे समय तक समुद्र में मालवाहक जहाज चलाएं। लेकिन आप जिस चीज को पसंद करते हैं उसे जब आप करते हैं तो सभी की मंजूरी लेना जरूरी नहीं है।’ 

फर्जी खबर से सुर्खियों में आईं मारवा 

दरअसल, गत 22 मार्च को संपादित तस्वीर एवं फर्जी हेडलाइन के साथ इंटरनेट पर स्क्रीनशॉट शेयर किए गए। इस रिपोर्ट में मारवा की तस्वीर नजर आई। इस ‘फर्जी’ रिपोर्ट ने इस बात को हवा दे दी कि स्वेज नहर में जहाज के फंसने के पीछे मारवा थीं। उन्होंने कहा, ‘यह फर्जी रिपोर्ट अंग्रेजी में थी इसलिए यह अन्य देशों में फैल गई। मैंने अपना पक्ष रखने की कोशिश की क्योंकि यह रिपोर्ट मेरी प्रतिष्ठा को खराब करने वाली थी। ‘

यह भी पढ़े –कोरोना का कहर 9 हजार से 90 हजार पहुंचे नए केस,50 दिनों में स्थिति हुई बद से बदतर

जहाज संग मुआवजे को लेकर होगा समझौता

सैय्यद शेहसा ने कहा कि तीन से चार दिनों में जहाज के साथ मुआवजे को लेकर एक समझौता किया जाएगा. वहीं, कहा गया है कि अगर जहाज जांच से पल्ला झाड़ने की कोशिश करता है तो इसे अदालत तक ले जाया जाएगा. जहाज को जब्त करने का निर्णय भी लिया जा सकता है. मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सिसी ने लोगों से जांच के बारे में निष्कर्ष पर नहीं जाने का आग्रह किया. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को नहर प्राधिकरण पर छोड़ दिया गया है और वह इसमें हस्तक्षेप नहीं करेंगे.

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|