राष्ट्रीय

लद्दाख पंहुचा सेना का T-90 भीष्म टैंक, चीन को देगा मुहतोड़ जवाब

लद्दाख| लद्दाख में भारत और चीन के बीच टेंशन काम होने का नाम नहीं ले रही है| विवाद कम होने की वजाये बढ़ता चला जा रहा है| गुरुवार को हुई भारत और चीन के बीच टॉप कमांडर्स की मीटिंग के बाद चीन गलवान वैली इस पीछे हटने को तैयार हो गया है लेकिन पांगोंग सो झील में स्तिथि कुछ अच्छी नहीं है|

लद्दाख
source – Defence News

बीते 45 दिनों में पांगोंग सो झील में चीन ने अपनी स्थिति मजबूत की है वह फिंगर 4 और फिंगर 5 माउंटेन्स के बीच में चीन ने कुछ स्थायी ढाचों का निर्माण किया है जिसके बाद से वह भारत और चीन के बीच हालत बेहद नाजुक स्तिथि में है |

दोनों देश LAC पर अपने सैनिको की संख्या में लगातार बढ़ोतरी करते जा रहे है और किसी युद्ध के स्तिथि से निपटने के लिए साजो-सामान एवं हथियार भी जमा किया जा रहा है| भारत की तरफ से बीते दिनों में कई हथियार सीमा के नज़दीक तैनात किया जा चुके है और हाल ही में भारत ने अपना सबसे शक्तिशाली टी-90 टैंक भी लद्दाख पहुंचा दिया है।

टी-90 भीष्म एक बेहद विशाल टैंक है और इसे लद्दाख सीमा तक पहुंचने के लिए विमान का सहारा लिया गया| भारत ऐसा करके चीन को यह सन्देश दिया है की किसी हमले की स्थिति में हम पूरी ताकत से पलटवार कर सकते है |

दुनिया का सबसे शक्तिशाली टैंक है भीष्म

लद्दाख

टी-90 भीष्म को दुनिया का सबसे शक्तिशाली टैंको में से एक है एवं इसे सबसे अचूक टैंक का दर्जा दिया गया है।

लद्दाख पहुंचाए जा रहे हैं टैंक और हथियार

लद्दाख में टैंक और अन्य भारी हथियारों की तैनाती की जा रही है| सेना ने बोफोर्स तोप एवं एंटी एयर क्राफ्टगन एवं AWACS की तैनाती की जा चुकी है| इसके अलावा इस समय सेना की तीन आ‌र्म्ड रेजिमेंट लद्दाख में हैंजिसके बाद भारतीय सेना हर हमले के लिए तैयार है|

यह भी पढ़े – मुंबई के नए इलाके बने कोरोना के एपिसेंटर ,जिसमे धारावी के बाद मलाड,मुलुंड जैसे कई इलाके हुए शामिल