राष्ट्रीय

रिपोर्ट लीक होने के बाद कांग्रेस ने लगाया राज्य में संवैधानिक संकट का आरोप,राष्ट्रपति से करेंगे मुलाकात

Khaskhabar/रिपोर्ट लीक होने के बाद विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने राज्य में संवैधानिक संकट का आरोप लगाते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करने का फैसला किया है।केरल बुनियादी ढांचा निवेश निधि बोर्ड (केआईआईएफबी) के बारे में नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक की रिपोर्ट लीक हुई थी।पार्टी सूत्रों ने रविवार को बताया कि कांग्रेस ने इस मुद्दे पर राज्य के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान से भी मुलाकात करने का फैसला लिया है।

Khaskhabar/रिपोर्ट लीक होने के बाद विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने राज्य में संवैधानिक
Posted by khaskhabar

उधर राज्य के वित्त मंत्री डॉ. थॉमस इसाक ने कैग की रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा है कि कैग केआईआईएफबी पर अपनी रिपोर्ट में असंवैधिक तरीके से ऋण का मुद्दा उठा रहा है।उनका कहना है कि कैग केआईआईएफ तथा राज्य की बड़ी वित्तीय परियोजनाओं को बर्बाद करने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि कैग ने नौ बार केआईआईएफबी का लेखा परीक्षित किया है, लेकिन कभी इस तरह के आरोप नहीं लगाये गये थे।

Khaskhabar/रिपोर्ट लीक होने के बाद विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने राज्य में संवैधानिक
Posted by khaskhabar

संस्थान भी ऋण लेने के लिए उपयोग करते है

कई केंद्र सरकार के संस्थान भी ऋण लेने के लिए उपयोग करते है, लेकिन, कैग का कहना है कि केआईआईएफबी ने संविधान के अनुच्छेद 293 (1) का उल्लंघन किया है।”उन्होंने कहा,“कैग 1999 से केआईआईएफबी का ऑडिट कर रहा है। सिर्फ इस वर्ष जनवरी के बाद से कैग ने 76 जांच का मुद्दा उठाया है। ऐसे सवालों से संबंधित सभी दस्तावेज कैग को प्रस्तुत कर दिये गये थे।

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) लाइफ मिशन, के-फोन तथा ई मोबिलिटी समेत विभिन्न प्रतिष्ठित परियोजनाओं को अपने अधीन लाने की योजना बना रहा है।

सोने की तस्करी और ड्रग्स मामले को लेकर विवादों में मुख्यमंत्री कार्यालय

वित्त मंत्री ने सार्वजनिक रूप से सीएजी रिपोर्ट के विवरण को विधानसभा में रखने से पहले लीक किया है। यह नियम का गंभीर उल्लंघन है।केआईआईएफबी में करोड़ों रुपये का भ्रष्टाचार हुआ था। ऐसे में नियमानुसार वित्त मंत्री को कैग रिपोर्ट के विवरण का खुलासा नहीं करना चाहिए। कैग की अंतिम रिपोर्ट को विधानसभा में पेश किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ेराष्ट्रीय प्रेस दिवस पर पत्रकारों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दी बधाई,कहा सरकार लगातार बढ़ा रही पत्रकारों के लिए सुविधाएं

वित्त मंत्री थॉमस इसाक कर रहे सीएम का बचाव

मुख्यमंत्री के भ्रष्ट प्रशासन के खिलाफ आरोपों के पीछे के तथ्यों को छिपाने के लिए प्रेस मीट बुलाई। कोडियरी बालाकृष्णन के सीपीएम सचिव के पद से हटने के फैसले से विवादों का अंत नहीं होगा। चेन्निथला ने कहा कि विपक्ष ने हमेशा इन आरोपों पर मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग की है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |