राष्ट्रीय

राजपथ पर 26 जनवरी की परेड में फ्लाई पास्ट का नेतृत्व करने वाली पहली महिला पायलट होगी नागौर की स्वाति

Khaskhabar/देशभर में 26 जनवरी 2021 (Republic Day 2021) की तैयारियां जोरों पर हैं। 26 जनवरी के मौके पर दिल्ली में राजपथ पर होने वाली इस बार की परेड राजस्थान के लिए बेहद खास है, क्योंकि मरूधरा की बेटी स्वाति राठौड़ इतिहास रचने वाली हैं। स्वाति वो पहली महिला पायलट बनेंगी, जो राजपथ पर फ्लाई पास्ट नेतृत्व करेगी।

Khaskhabar/देशभर में गणतंत्र दिवस 2021 (Republic Day 2021) की तैयारियां जोरों पर हैं। 26 जनवरी के मौके पर दिल्ली में राजपथ पर होने वाली इस बार की परेड राजस्थान के लिए बेहद खास है, क्योंकि मरूधरा की बेटी स्वाति राठौड़ इतिहास रचने वाली हैं। स्वाति वो पहली महिला पायलट बनेंगी, जो राजपथ पर फ्लाई पास्ट नेतृत्व करेगी।
Posted by khaskhabar

विमान एक फार्मेशन राजपथ के ऊपर से गुजरेंगे

मीडिया से बातचीत में स्वाति के पिता डॉ. भवानी सिंह बताते हैं कि फ्लाई पास्ट के दौरान स्वाति के नेतृत्व में हवाई जहाज की एक फार्मेशन राजपथ के ऊपर से गुजरेगी। इसमें पांच विमान शामिल होंगे, जो देश की महिला शक्ति और सशक्तीकरण का संदेश देंगे। वायुसेना की इस झांकी में हल्के लड़ाकू विमान, हेलीकॉप्टर और सुखोई-30 शामिल होंगे।

Khaskhabar/देशभर में गणतंत्र दिवस 2021 (Republic Day 2021) की तैयारियां जोरों पर हैं। 26 जनवरी के मौके पर दिल्ली में राजपथ पर होने वाली इस बार की परेड राजस्थान के लिए बेहद खास है, क्योंकि मरूधरा की बेटी स्वाति राठौड़ इतिहास रचने वाली हैं। स्वाति वो पहली महिला पायलट बनेंगी, जो राजपथ पर फ्लाई पास्ट नेतृत्व करेगी।
Posted by khaskhabar

केरल बाढ़ के दौरान बचाई लोगों की जान

बता दें कि स्वाति राठौड़ फिलहाल राजस्थान के अजमेर में रहती हैं और प्रदेश ही एक एयरबेस पर तैनात हैं। 2018 में आई केरल बाढ़ के दौरान स्वाति अदम्य साहस दिखाया था। तब स्वाति ने अपनी जान जोखिम में डालकर हजारों लोगों को एयरलिफ्ट कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया था। इस कार्य के लिये स्वाति को काफी मान-सम्मान मिला था।

नागौर के प्रेमपुरा की रहने वाली हैं स्वाति राठौड़

बता दें कि स्वाति राठौड़ मूलरूप से राजस्थान के नागौर जिले के प्रेमपुरा गांव की रहने वाली हैं। वर्तमान में भारतीय वायुसेना में बतौर फ्लाइट लेफ्टिनेंट सेवाएं दे रही हैं। स्वाति ने राजधानी जयपुर के आईसीजी कॉलेज और अजमेर के मयूर स्कूल से पढ़ाई की है। इनके पिता डॉ. भवानी सिंह कृषि विभाग में उप निदेशक हैं।

यह भी पढ़े—भारत ने UN में जताई चिंता, सीरिया में शामिल भाड़े के लड़ाके अन्य देशों के लिए भी खतरा

स्नेहा व मोहना ने भी रचा था इतिहास

बता दें कि राजस्थान की बेटियां वायुसेना पर विभिन्न पदों पर सेवाएं दे रही हैं। स्वाति से पहले राजस्थान के सीकर जिले के हरदासका बास की बेटी फ्लाइट लेफ्टिनेंट स्नेहा शेखावत 63वें गणतंत्र दिवस समारोह में वायुसेना की परेड का नेतृत्व कर चुकी हैं। ऐसा करने वाली शेखावत वायुसेना की पहली महिला अफसर बनी थीं। इसके अलावा देश की पहली महिला फाइटर पायलट मोहना सिंह भी राजस्थान की रहने वाली हैं। इनका गांव झुंझुनूं जिले में पापड़ा है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|