कारोबार

यदि आयकर रिटर्न 31 दिसंबर तक नहीं किया है फाइल, तो ना घबराएं बस करना होगा ये काम

Khas Khabar|कोरोना महामारी के चलते आकलन वर्ष 2020-21 के लिए आयकर रिटर्न (आईटीआर) को फाइल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई 2020 से बढ़ाकर 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ा दी गई है। व्यक्तिगत आयकरदाता 31 दिसंबर तक अपना आयकर रिटर्न दाखिल कर सकते हैं। वहीं जो लोग ऑडिट कराने के बाद आयकर रिटर्न दाखिल करते हैं उनके लिए इसकी आखिरी तारीख 31 जनवरी 2021 होगी।

 आयकर रिटर्न
Posted By – Khas Khabar

नियत तारीख ही अंतिम तिथि नहीं होती है लोगों में आम तौर पर यह धारणा होती है कि नियत तारीख ही अंतिम तिथि होती है। जिसके आगे आप अपना आईटीआर जमा नहीं कर सकते हैं, जोकि सही नहीं है। आईटीआर फाइलिंग के लिए प्रासंगिक दो तिथियां होती हैं। एक नियत तारीख और दूसरी आखिरी तारीख।

यदि आप नियत तारीख तक अपना आईटीआर जमा नहीं कर पाते हैं, तो भी आप अंतिम तिथि तक इसे दर्ज कर सकते हैं। आकलन वर्ष 2020-2021 के लिए आईटीआर जमा करने की नियत तारीख 31 जुलाई 2020 थी जिसे 31 दिसंबर 2020 तक विस्तारित किया गया है। हालांकि अंतिम तिथि 31 मार्च 2021 है।

यह भी पढ़े— छत्तीसगढ़:ताड़मेटला इलाके में नक्सलियों के आईईडी विस्फोट में सीआरपीएफ के पांच जवान घायल

आईटीआर दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर 2020

31 दिसंबर 2020 तक नहीं भर पाए रिटर्न तो ना घरबाएं यदि आप 31 दिसंबर 2020 तक अपने वर्तमान आईटीआर को जमा करने में विफल रहते हैं। तभी भी आप 31 मार्च 2021 तक आपने आईटीआर का भुगतान कर सकते हैं, लेकिन इसके बाद आप आगामी सालों में अपने नुकसान को आगे बढ़ाने के अपने अधिकार को खो देते हैं।

 आयकर रिटर्न
Posted By – KhasKhabar

आपको 5000 रुपये का जुर्माना देना होगा अगर टैक्स रिटर्न समय सीमा के बाद लेकिन संबंधित आकलन वर्ष के 31 दिसंबर को या उससे पहले दाखिल किया जाए। ये भी ध्यान रखिए कि ये वित्त वर्ष 2019-20 के लिए प्रासंगिक नहीं है, क्योंकि वित्त वर्ष 2019-20 के लिए आईटीआर दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर 2020 है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |