राष्ट्रीय

मध्यप्रदेश:महिला मंत्री इमरती देवी के अपमान से नाराज शिवराज आज करेंगे मौनव्रत,भड़के ज्योतिरादित्य सिंधिया

Khaskhabar/मध्यप्रदेश:मध्य प्रदेश में अगले महीने 28 सीटों पर उपचुनाव है, वोटिंग में 15 दिन बचे हैं। लेकिन इससे पहले महिला मंत्री के अपमान पर कांग्रेस- बीजेपी में महाभारत छिड़ गई है। पूर्व सीएम कमलनाथ ने शिवराज सरकार की मंत्री इमरती देवी के बारे में ऐसे शब्द कह दिए हैं जिसे बीजेपी लाल हो गई है। विरोध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत एमपी बीजेपी के बड़े बड़े नेता सुबह दस से बारह बजे तक मौन व्रत रखने वाले हैं।

Khaskhabar/मध्यप्रदेश:मध्य प्रदेश में अगले महीने 28 सीटों पर उपचुनाव है,
Posted by khaskhabar

राज्यसभा के सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर दलित समुदाय की भाजपा नेता इमरती देवी को लेकर अभद्र टिप्पणी करने का आरोप लगाते हुए रविवार को कहा कि ऐसे बयान महिलाओं और अनुसूचित जाति के खिलाफ कांग्रेस नेताओं की सोच दर्शाते हैं। सिंधिया ने इंदौर शहर से करीब 30 किलोमीटर दूर कम्पेल कस्बे में एक चुनावी सभा में कहा, “दलित समाज की नेता और सरपंच पद से शुरूआत कर अपनी अथक मेहनत से मंत्री बनीं इमरती देवी के लिए कमलनाथ कहते हैं कि वह आइटम हैं। (कांग्रेस नेता) अजय सिंह कहते हैं कि वह जलेबी हैं.”

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जिन इमरती देवी को लेकर विवादित बयान दिया वे अब सिंधिया के साथ बीजेपी में शामिल होकर शिवराज सरकार में मंत्री बन गई हैं। बीजेपी ने इमरती देवी को डबरा विधानसभा सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है। रविवार को कमलनाथ जब कांग्रेस प्रत्याशी सुरेंद्र राजे के लिए प्रचार करने डबरा पहुंचे तो इमरती देवी पर निशाना साधने के चक्कर में इनकी जुबान फिसल गई

बीजेपी दो घंटे करेगी मौन व्रत, चुनाव आयोग से की गयी शिकायत

कमलनाथ के बयान के बाद बीजेपी ने बिना वक्त गंवाए कांग्रेस पर चढ़ाई कर दी। एलान किया गया कि मध्य प्रदेश बीजेपी आज दो घंटे का मौन वर्त रखेगी। खुद सीएम शिवराज भोपाल में पुरानी विधानसभा पास महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरना देंगे।बीजेपी कमलनाथ के विवादित बयान की शिकायत चुनाव आयोग से भी कर चुकी है। मांग की गई है कि कमलनाथ को चुनाव प्रचार से रोका जाए।

सिंधिया के वफादार समर्थकों में गिनी जाने वाली इमरती देवी कांग्रेस के उन 22 विधायकों में से एक हैं, जिनके विधानसभा से त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल होने के कारण तत्कालीन कमलनाथ सरकार 20 मार्च को गिर गई थी। इसके बाद शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा 23 मार्च को सूबे की सत्ता में लौट आई थी।

बयान को लेकर कमलनाथ पर इमरती देवी का हमला

Khaskhabar/मध्यप्रदेश:मध्य प्रदेश में अगले महीने 28 सीटों पर उपचुनाव है,
Posted by khaskhabar

कमलनाथ पर अब इमरती देवी ने भी पलटवार किया है। लेकिन इन्होंने जवाब देने के चक्कर में बंगाल के लोगों के चरित्र पर भी सवाल उठा दिए हैं जिसपर बवाल हो सकता है। इमरती देवी ने कहा कि वो बंगाल के हैं महिलाओं की इज्जत करना नहीं जानते. उन्होंने कहा, ”वो बंगाली आदमी हैं, वो मध्यप्रदेश सिर्फ मुख्यमंत्री बनने आए। उन्हें सभ्यता नहीं है तो क्या कहा जाए। मुख्यमंत्री के पद से हटकर वो पागल हो गए हैं और अब पागल बनकर पूरे मध्यप्रदेश में घूम रहे हैं. अब इसमें हम क्या कह सकते हैं, कुछ भी नहीं कह सकते.”

बयान से बैकफुट पर कमलनाथ अब सफाई दे रहे

मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए तीन नवंबर को उपचुनाव होना है. कमलनाथ इसी चुनाव के आसरे सत्ता में वापसी का सपना देख रहे हैं लेकिन इमरती देवी पर दिए बयान ने इन्हें बैकफुट पर ला दिया है. कमलनाथ अब अपने बयान पर सफाई दे रहे हैं।

यह भी पढ़े— तनिष्क विज्ञापन विवाद को लेकर गृह मंत्री अमित शाह का बयान , कुछ इस तरह दिया जवाब

कमलनाथ ने कहा, ”शिवराज जी आप कह रहे हैं कमलनाथ ने आइटम कहा. हां मैंने आइटम कहा है क्योंकि यह कोई असम्मानजनक शब्द नहीं है। मैं भी आइटम हूं आप भी आइटम है और इस अर्थ में हम सभी आइटम है। लोकसभा और विधानसभा में कार्यसूची को आइटम नंबर लिखा जाता है, क्या यह असम्मानजनक है? सामने आइए और मुकाबला कीजिए। सहानुभूति और दया बटोरने की कोशिश वही लोग करते हैं जिन्होंने जनता को धोखा दिया हो.”

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |