दुनिया राष्ट्रीय

भारत की सुरक्षा और संप्रभुता के लिए प्रतिबद्ध है अमेरिका,हिंद प्रशांत क्षेत्र में दोनों देश बनेंगे एक-दूसरे की ताकत

Khaskhabar/अमेरिका ने कहा है कि वह भारत की सुरक्षा और संप्रभुता के लिए प्रतिबद्ध है। यही कारण है कि अमेरिका ने अब रक्षा सौदों का दायरा बढ़ाकर इस साल बीस अरब डालर (करीब एक लाख 45 हजार करोड़ रुपये) कर दिया है। अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि यह हमारी भारत के साथ वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को दर्शाता है। यह पूछे जाने पर क्या अन्य देशों की तरह भारत के साथ रक्षा सौदों की अमेरिका समीक्षा कर रहा है, उन्होंने कहा कि ऐसी कोई भी प्रक्रिया लंबित नहीं है।

Khaskhabar/अमेरिका ने कहा है कि वह भारत की सुरक्षा और संप्रभुता के लिए प्रतिबद्ध है। यही कारण है कि अमेरिका ने अब रक्षा सौदों का दायरा बढ़ाकर इस साल बीस अरब डालर (करीब एक लाख 45 हजार करोड़ रुपये) कर दिया है। अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि यह हमारी भारत के साथ वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को दर्शाता है। यह पूछे जाने पर
Posted by khaskhabar

वहीं स्थिर हिंद प्रशांत क्षेत्र के लिए दोनों देश एक-दूसरी की ताकत बनेंगे। हाल ही में अमेरिकी प्रशासन ने अंतरिम राष्ट्रीय सुरक्षा रणनीतिक दिशानिर्देश जारी किए हैं, जिसमें कहा गया है कि बाइडन प्रशासन अमेरिका-भारत संबंधों को मजबूत करना जारी रखने को उच्च प्राथमिकता देगा।

हाल ही में भारत के अमेरिका में राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने कहा था कि भारत और अमेरिका के बीच सैन्य और सुरक्षा संबंधी द्विपक्षीय संबंध पहले की तुलना में और अधिक मजबूत हुए हैं। अमेरिका का भारत को प्रमुख रक्षा साझेदार का दर्जा देना और रणनीतिक व्यापार ऑथराइजेशन 1 की श्रेणी में रखना महत्वपूर्ण है। इसके साथ ही भारत के साथ चार मूलभूत समझौते पर हस्ताक्षर से परस्पर दोनों सेनाओं के आपसी सहयोग को और अधिक बढ़ावा मिलेगा।

रक्षा उपकरणों की बिक्री भारत की सुरक्षा के लिए अमेरिका की प्रतिबद्धता 

बाइडन प्रशासन ने बुधवार को कहा कि भारत को प्रमुख रक्षा उपकरणों की बिक्री देश की सुरक्षा एवं संप्रभुता के लिए अमेरिका की प्रतिबद्धता को दर्शाती है। अमेरिका द्वारा भारत को रक्षा उपकरणों की बिक्री का दायरा बढ़ाकर अब 20 अरब डॉलर तक कर दिया गया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि इस साल अमेरिका ने भारत के लिए 20 अरब डॉलर तक के रक्षा उपकरणों की बिक्री को मंजूरी दी है। रक्षा के क्षेत्र में बिक्री का दायरा बढ़ाने की पेशकश भारत की सुरक्षा एवं संप्रभुता के लिए हमारी प्रतिबद्धता है।

यह भी पढ़े—ओडिशा के एक तिहाई सिमलीपाल नेशनल पार्क में 10 दिनों से भयंकर आग,मुख्यमंत्री ने की स्थिति की समीक्षा

कश्मीर में हालात सामान्य रने के कदमों का अमेरिका ने किया स्वागत

भारत द्वारा अपने केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के आर्थिक एवं सियासी हालात को पूर्ण रूप से सामान्य करने की दिशा में उठाए गए कदमों का अमेरिका ने स्वागत किया।विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि अमेरिका जम्मू-कश्मीर में बदलते हालात पर लगातार नजर रख रहा है। कश्मीर के संबंध में अमेरिकी नीति में कोई बदलाव नहीं आया है। प्राइस ने कहा कि भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों के अनुरूप केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में आर्थिक और सियासी हालात को पूरी तरह से सामान्य करने के लिए उठाए गए कदमों का हम स्वागत करते हैं।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|