राष्ट्रीय

भारतीय सेना की सूचना Pak को देता था पूर्व सैनिक,गोधरा का अनस भेजता था पैसे: एक्शन में यूपी ATS

Khaskhabar/पाकिस्‍तानी हैंडलर की कस्‍टडी रिमांड मांगेगी ATS, अनस और पूर्व सैनिक सौरभ को आमने-सामने बैठाकर होगी पूछताछ |खुफिया एजेंसियों को हापुड़ निवासी पूर्व सैनिक सौरभ शर्मा और गोधरा (गुजरात) निवासी उसके मददगार अनस गितैली से देश में फैले पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ‘आईएसआई’ के जासूस नेटवर्क के बारे में अहम सुराग और सूचनाएं मिलने की उम्मीद है। इन एजेंसियों को एटीएस की जांच बढ़ने का इंतजार है। इस बीच रविवार को एटीएस की टीम सौरभ को लेकर मेरठ गई थी। मेरठ में ही उसे सेना की जासूसी के बदले नकद पैसे दिए गए थे।

पाकिस्‍तानी हैंडलर की कस्‍टडी रिमांड मांगेगी ATS, अनस और पूर्व सैनिक सौरभ को आमने-सामने बैठाकर होगी पूछताछ |खुफिया एजेंसियों को हापुड़ निवासी पूर्व सैनिक सौरभ शर्मा और गोधरा (गुजरात) निवासी उसके मददगार अनस गितैली से देश में फैले पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ‘आईएसआई’ के जासूस नेटवर्क के
Posted by –Khaskhabar

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को किस तरह की सूचनाएँ भेजी गई

इनके पास से एटीएस को टेरर फंडिंग का सबूत भी मिला है।अब यूपी एटीएस ये पता लगाने की कोशिश कर रही है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को किस तरह की सूचनाएँ भेजी गई हैं। सूचनाओं की संवेदनशीलता के बारे में जानने के लिए दोनों के मोबाइल फोन की फोरेंसिक जाँच भी कराई जा रही है। बता दें कि सौरभ से पूछताछ में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लिए जासूसी करने के बदले उसे रकम भेजने वाले गोधरा निवासी अनस गितौली की भूमिका सामने आई।

सौरभ शर्मा के खिलाफ लखनऊ में केस दर्ज किया गया

जिसके बाद गुजरात एटीएस की मदद से अनस को गिरफ्तार कर लिया गया। अनस का बड़ा भाई इमरान गितौली भी आईएसआईएस के लिए काम करता था, वो भी फिलहाल जाँच एजेंसी (एनआईए) की गिरफ्त में है।एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि सौरभ शर्मा के खिलाफ लखनऊ में केस दर्ज किया गया है। सौरभ 2013 में भारतीय सेना में भर्ती हुआ था। इसके बाद उसने मेडिकल कारणों से मई, 2020 में सेना छोड़ दिया था। इस दौरान उसके बैंक एकाउंट में विदेश से काफी रकम आई।

प्रशांत कुमार ने बताया कि अभी एटीएस की टीमें कई राज्यों में कार्रवाई कर रही हैं। हर संदिग्ध से पूछताछ के साथ ही हर जगह पर छापेमारी जारी रहेगी। सौरभ हापुड़ के बहादुर गढ़ थाना क्षेत्र के बिहुनी गाँव का रहने वाला है। उसने पैसों के लिए सेना से जुड़ी गोपनीय जानकारियाँ पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को भेजी थीं। लखनऊ के एटीएस थाने में सौरभ शर्मा और अनस गितौली के खिलाफ ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर इनको गिरफ्तार किया गया है।

व्हाट्सअप के माध्यम से पाकिस्तान की एक महिला खुफिया अधिकारी को भेजता था

पूर्व सैनिक सौरभ ने एटीएस के सामने स्वीकार किया है कि वह पैसों के लालच में सेना की गोपनीय सूचनाएँ समय-समय पर व्हाट्सअप के माध्यम से पाकिस्तान की एक महिला खुफिया अधिकारी को भेजता था। सौरभ शर्मा की 2014 में फेसबुक के माध्यम से एक लड़की से दोस्ती हुई थी। लड़की से उसकी काफी दिनों तक बातचीत होती रही।

यह भी पढ़े—बीते हफ्ते सोने में आई जोरदार गिरावट, चांदी की कीमतों में भी भारी कमी, जानिए भाव

लड़की ने खुद को सेना की रिपोर्टिंग करने वाली पत्रकार बताया था। वह लड़की के झाँसे में आ गया और लड़की ने सौरभ से सेना की कई गोपनीय जानकारियाँ उससे माँगी और वो देता रहा। कुछ ही दिनों बाद सौरभ पाकिस्तान का जासूस बनकर काम करने लगा। इसके बदले में उसे पैसे भी मिलते रहे।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|