राष्ट्रीय

बेटी की शादी के कार्ड पर सुसाइड छोड़ पिता ने दे दी जान,अचानक बढ़ी दहेज की मांग से था परेशान

Khaskhabar/बेटी की शादी के कार्ड पर सुसाइड नोट ,तमाम प्रयासों के बाद भी अबतक दहेज को समाज से खत्म नहीं किया जा सका है। जिसकी वजह से आए दिन इससे प्रताड़ित होने वाले मौत को गले लगा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला हरियाणा जिले के रेवाड़ी से आया है। जहां पर लड़की के पिता ने शादी से एक दिन पहले कार्ड पर दहेज की मांग लिखकर आत्महत्या कर ली।

Khaskhabar/बेटी की शादी के कार्ड पर सुसाइड नोट ,तमाम प्रयासों के बाद भी
Posted by khaskhabar

ट्रांसपोर्ट का काम करने वाले गांव पाड़ला निवासी कैलाश तंवर ने अपनी बेटी की शादी गुरुग्राम के गांव कासन निवासी सुनील कुमार के बेटे रवि के साथ तय की थी। इसके साथ ही बेटे का रिश्ता राजस्थान के दौसा में तय किया हुआ है। 25 नवंबर को बेटी की शादी होनी तय की गई थी तथा बेटे का लगन समारोह था। सोमवार को बेटी का लगन लेकर गांव कासन जाना था तथ एक दिसंबर को बेटे की शादी होनी थी।

दहेज की व्यवस्था न हो तो लगन लेकर मत आना

Khaskhabar/बेटी की शादी के कार्ड पर सुसाइड नोट ,तमाम प्रयासों के बाद भी
Posted by khaskhabar

आरोप है कि लगन से पहले गांव कासन निवासी वर पक्ष ने बिचौलिये के जरिए दहेज में 30 लाख रुपये का सामान लेकर आने की मांग रख दी। 19 नवंबर को कैलाश अलवर जिला के गांव बूढी बावल निवासी अपने बहनोई चेतराम व भांजे को साथ लेकर वर पक्ष के घर गए तथा उन्हें बताया कि वह 30 लाख का सामान नहीं दे सकते। आरोप है कि वर पक्ष ने चेतावनी दी कि यदि 30 लाख के दहेज की व्यवस्था न हो तो लगन लेकर मत आना। इसके बाद कैलाश तंवर बेटी की शादी को लेकर तनाव में आ गए। वह अपने बहनोई के साथ ही उनके घर राजस्थान के गांव बूढी बावल चले गए तथा वहीं पर 19 नवंबर को ही फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली।

सरकार से दहेज लेने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की।

परिवार वालों को इसका पता तब चला, जब कैलाश चंद के बहनोई सुबह चाय लेकर दफ्तर पहुंचे। इतना ही नहीं कैलाश चंद ने आत्महत्या करने से पहले बेटी की शादी के कार्ड पर ही सुसाइड नोट लिखा और सरकार से दहेज लेने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की।

यह भी पढ़े—दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बने टेस्ला के एलन मस्क (Elon Musk), Bill Gates को पीछे छोड़ा

सुसाइड नोट में लिखा

सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा कि मैं 30 लाख रुपए लड़के वालों को दहेज के रूप में नहीं दे सकता। समाज में इज्जत बचाने के लिए मैं लड़के पिता के पास भी गया था।लेकिन वे नहीं माने और रिश्ते के लिए मना कर दिया। इसलिए मैं अब इस समाज में जिंदा नहीं रह सकता और मेरी मौत के जिम्मेदार यही लोग हैं।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |