जेपी नड्डा
राष्ट्रीय

बंगाल में जेपी नड्डा के काफि‍ले पर हमला, कई घायल, गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट, शाह समेत आला नेताओं ने टीएमसी पर उठाए सवाल

khaskhabar| पश्चिम बंगाल में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर गुरुवार को कथित टीएमसी कार्यकर्ताओं ने हमला कर दिया। भाजपा ने बताया है कि हमले में पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय समेत कई नेता घायल हुए हैं। भाजपा नेताओं ने हमले के लिए टीएमसी को जिम्‍मेदार ठहराया है जबकि पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे ‘भाजपा की नौटंकी’ करार दिया है। वहीं केंद्र सरकार ने जेपी नड्डा के पश्चिम बंगाल दौरे के दौरान कथित गंभीर सुरक्षा खामियों पर राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब कर ली है। 

जेपी नड्डा
Posted By – Khas Khabar

केंद्र ने बंगाल सरकार से मांगी रिपोर्ट

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि मंत्रालय ने भाजपा अध्यक्ष के दौरे के समय कथित गंभीर सुरक्षा खामियों को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है। वहीं बंगाल प्रदेश इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने दावा किया है कि कोलकाता में जेपी नड्डा के कार्यक्रमों के दौरान यह देखा गया कि सुरक्षा इंतजामों में गंभीर खामियां थीं। ऐसा पुलिस विभाग की लापरवाही की वजह से था। नड्डा के काफि‍ले पर उस वक्‍त हमला हुआ जब वह डायमंड हार्बर में कार्यकार्ताओं से मिलने जा रहे थे। 

यह भी पढ़े— लैंडिंग के समय SpaceX के स्‍टारशिप में हुआ विस्फोट, एलन मस्‍क के मंगल ग्रह के सपने को झटका!

ममता बोलीं- भाजपा के पास कोई काम नहीं 

पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा के पास कोई काम नहीं है। कभी यहां गृह मंत्री अमित शाह होते हैं तो कभी चड्ढ़ा, नड्डा, फड्डा, भड्डा होते हैं। जब उन्‍हें यहां लोगों का समर्थन नहीं मिलता है तो वे अपने कार्यकर्ताओं से नौटंकी कराते हैं। आपके साथ सुरक्षाकर्मी हैं। कोई आप पर हमला कैसे कर सकता है? राज्य के बजाए आप केंद्रीय बलों पर भरोसा करते हैं। हमले की योजना बनाई गई हो सकती है, मैंने पुलिस से जांच करने को कहा है। 

जेपी नड्डा
Posted By – Khas Khabar

तृणमूल शासन में बंगाल अत्याचार : शाह 

इस हमले पर केंद्रीय गृहमंत्री और दिग्‍गज भाजपा नेता अमित शाह ने कहा कि तृणमूल शासन में बंगाल अत्याचार, अराजकता और अंधकार के युग में जा चुका है। तृणमूल कांग्रेस के राज में पश्चिम बंगाल के अंदर जिस तरह से राजनीतिक हिंसा को संस्थागत कर चरम सीमा पर पहुंचाया गया है। वो लोकतांत्रिक मूल्यों में विश्वास रखने वाले सभी लोगों के लिए दु:खद भी है और चिंताजनक भी।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |