कारोबार

पीएमएलए मामले में ICICI बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर को मिली जमानत,स्पेशल PMLA कोर्ट ने रखी यह शर्त

Khaskhabar/ICICI बैंक की पूर्व सीईओ और एमडी चंदा कोचर को विशेष PMLA (प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट) कोर्ट से जमानत मिल गई है. आज 12 फरवरी की सुबह बैंक की पूर्व एमडी और सीईओ मुंबई सेशंस कोर्ट में सुनवाई के लिए पेश हुई थीं. सुनवाई के बाद स्पेशल पीएमएलए कोर्ट ने चंदा कोचर को जमानत दे दी. कोर्ट ने कोचर को 5 लाख रुपये के बांड पर जमानत दी है. इसके अलावा उन्हें अदालत की मंजूरी के बिना देश नहीं छोड़ने के लिए कहा गया है. चंदा कोचर को स्पेशल पीएमएलए कोर्ट से आईसीआईसीआई बैंक-वीडियोकॉन मनी लांड्रिंग केस में सुनवाई के दौरान जमानत मिली है.

Khaskhabar/ICICI बैंक की पूर्व सीईओ और एमडी चंदा कोचर को विशेष PMLA (प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट) कोर्ट से जमानत मिल गई है. आज 12 फरवरी की सुबह बैंक की पूर्व एमडी और सीईओ मुंबई सेशंस कोर्ट में सुनवाई के लिए पेश हुई थीं. सुनवाई के बाद स्पेशल पीएमएलए कोर्ट ने चंदा कोचर को जमानत दे दी. कोर्ट ने कोचर
Posted by khaskhabar

कोचर को जमानत दे दी.

ईडी ने पिछले साल सितंबर 2020 में चंदा कोचर के पति दीपक कोचर को गिरफ्तार किया था. उन्हें सीबीआई द्वारा दीपक कोचर के ऊपर दर्ज एक एफआईआर के तहत दर्ज एक मामले में गिरफ्तार किया गया था. सीबीआई ने मनी लांड्रिंग के मामले में चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर, धूत और अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया था.

यह है पूरा मामला

ईडी का आरोप है कि चंदा कोचर के नेतृ्त्व में आईसीआईसी बैंक की एक समिति ने वीडियोकॉन इंटरनेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड को जो 300 करोड का लोन जारी किया था, उसमें से 64 करोड़ रुपये लोन Nupower Renewables Pvt Ltd (NRPL) को ट्रांसफर कर दिए गए. एनआरपीएल को यह राशि वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज को लोन मिलने के एक दिन बाद ही 8 सितंबर 2009 को ट्रांसफर कर दिए गए. एनआरपीएल दीपक कोचर की कंपनी है. ईडी की चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए स्पेशल पीएमएलए कोर्ट के जज ने चंदा कोचर को अपने पद का दुरुपयोग का दोषी पाया.

पेशी के वक्त वकील ने फाइल की जमानत याचिका

विशेष अदालत ने पिछले महीने 30 जनवरी को कोचर, उनके पति दीपक कोचर, वीडियोकॉन ग्रुप के प्रमोटर वेणुगोपाल धूत और अन्य आरोपियों को समन भेजा था. इसे लेकर चंदा कोचर आज कोचर स्पेशल कोर्ट जज एए नंदगांवकर के सामने पेश हुई थी. उनकी पेशी के दौरान कोचर के वकील विजय अग्रवाल ने उनकी जमानत के लिए याचिका फाइल कर दी. इस याचिका पर कोर्ट ने 5 लाख रुपये के बांड पर कोचर को जमानत दे दी.

यह भी पढ़े—मुस्लिम/ईसाई बन चुके दलित को आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा,नहीं लड़ सकेंगे चुनाव: कानून मंत्री

ईडी ने पिछले साल सितंबर 2020 में चंदा कोचर के पति दीपक कोचर को गिरफ्तार किया था. उन्हें सीबीआई द्वारा दीपक कोचर के ऊपर दर्ज एक एफआईआर के तहत दर्ज एक मामले में गिरफ्तार किया गया था. सीबीआई ने मनी लांड्रिंग के मामले में चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर, धूत और अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया था.

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|