दुनिया

पाकिस्तान में फिर हिंदू मंदिर में तोड़फोड़,आगजनी का मुख्य आरोपी मौलवी शरीफ समेत 26 लोग गिरफ्तार

Khaskhabar/पाकिस्‍तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में हिंदू मंदिर को आग लगाने और उसे तोड़ने के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी मौलवी मोहम्मद शरीफ को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इस मामले में जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम (JUI-F) के दो स्थानीय मौलवियों मौलवी मोहम्मद शरीफ और मौलाना फैजुल्लाह सहित सैकड़ों अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी।

Khaskhabar/पाकिस्‍तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में हिंदू मंदिर को आग लगाने और उसे तोड़ने के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी मौलवी मोहम्मद शरीफ को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इस मामले में जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम (JUI-F) के
Posted by khaskhabar

दरअसल, मंदिर के विस्तार का विरोध कर रहे लोगों ने मंदिर में तोड़-फोड़ कर आग लगा दी थी, जिसके बाद पुलिस ने 30 कट्टरपंथियों को गिरफ्तार कर लिया। खैबर पख्तूनख्वा में करक जिले के टेरी गांव में बुधवार को मंदिर पर हमले की मानवाधिकार संगठनों और हिंदू नेताओं ने निंदा की। प्रांतीय सरकार ने अधिकारियों को क्षतिग्रस्त मंदिर के पुनर्निर्माण कराने का आदेश दिया है और अपराधियों को सजा दिलाने को लेकर आश्वस्त किया।

Khaskhabar/पाकिस्‍तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में हिंदू मंदिर को आग लगाने और उसे तोड़ने के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी मौलवी मोहम्मद शरीफ को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इस मामले में जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम (JUI-F) के
Posted by khaskhabar

संघीय संसदीय सचिव लाल चंद मल्ही ने की इस हमले की कड़ी आलोचना

इस घटना की मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय ने निंदा की है। पाकिस्तान में मानवाधिकारों के लिए संघीय संसदीय सचिव लाल चंद मल्ही ने इस हमले की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग पाकिस्तान को बदनाम करने के लिए इस प्रकार की असामाजिक गतिविधियां कर रहे हैं, जिन्हें सरकार कतई बर्दाश्त नहीं करेगी।

मंदिर पर हमले के सिलसिले में पुलिस ने रातभर कई जगहों पर छापे मारे और गिरफ्तारियां कीं। थाना प्रभारी रहमतुल्ला खान ने बताया कि खैबर पख्तूनख्वा में करक जिले के टेरी गांव में मंदिर पर हमले के बाद कट्टरपंथी जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम पार्टी के नेता रहमत सलाम खट्टक समेत 30 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम पार्टी (फजल उर रहमान समूह) के समर्थकों के नेतृत्व वाली भीड़ ने मंदिर के विस्तार कार्य का विरोध किया और मंदिर के पुराने ढांचे के साथ-साथ नवनिर्मित निर्माण कार्य को भी ध्वस्त कर दिया।

यह भी पढ़े— दिल्‍ली में नाइट कर्फ्यू, महाराष्‍ट्र में ड्रोन से होगी निगरानी, जानिए- अन्‍य राज्‍यों में नए साल को लेकर नियम

मंदिर परिसर में है हिंदू धार्मिक नेता की समाधि

हिंदू समुदाय पेशावर के नेता हारून सरब दियाल ने कहा कि इस मंदिर परिसर में एक हिंदू धार्मिक नेता की समाधि है और देश के हिंदू परिवार हर गुरुवार को इस समाधि पर आते हैं। उन्होंने कहा कि इस घटना ने हिंदू समुदाय की भावनाएं आहत की हैं और इस्लामिक विचारधारा परिषद को इसका संज्ञान लेना चाहिए। दियाल ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान धार्मिक स्थलों पर पर्यटन को बढ़ावा देने की बात करते हैं, लेकिन देश में अल्पसंख्यकों के पूजनीय स्थल सुरक्षित नहीं है। हिंदू समुदाय पाकिस्तान का सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समुदाय है। आधिकारिक अनुमान के अनुसार, पाकिस्तान में 75 लाख हिंदू रहते हैं, लेकिन समुदाय का कहना है कि देश में 90 लाख से अधिक हिंदू रह रहे हैं। पाकिस्तान में हिंदुओं की अधिकतर आबादी सिंध प्रांत में रहती है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|