मालाबार युद्धाभ्यास
दुनिया राष्ट्रीय

पहली बार मालाबार युद्धाभ्यास में एकसाथ शामिल होंगे ‘क्वाड गठबंधन’ के सभी देश, टेंशन में चीन

KhasKhabar|चीन की आक्रामकता और उसके दबदबे पर लगाम लगाने के लिए ‘क्वाड गठबंधन’ के देशों की लामबंदी रंग लाने लगी है। भारत ने अमेरिका और जापान की नौसेना के साथ होने वाले युद्धाभ्यास मालाबार में आस्ट्रेलियाई नौसेना को शामिल करने के लिए औपचारिक निमंत्रण दिया है। जारी बयान के मुताबिक, यह सैन्‍य अभ्यास बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में होगा। भारत के इस पैंतरे से चीन की बेचैनी और बढ़नी तय मानी जा रही है।

 मालाबार युद्धाभ्यास

भारतीय नौसेना ने कहा है कि समुद्री क्षेत्र में अन्य देशों के साथ सहयोग बढाने खास तौर पर आस्ट्रेलिया के साथ रक्षा क्षेत्र में सहयोग को पुख्ता करने की दिशा में आगे बढ़ते हुए मालाबार युद्धाभ्‍यास में आस्ट्रेलियाई नौसेना को भी शामिल करने का फैसला किया गया है। रिपोर्टों के मुताबिक, ऐसा पहली बार है जब क्‍वाड गठबंधन के सभी सदस्य देश एक साथ युद्धाभ्‍यास में हिस्‍सा लेंगे। यह सैन्‍य अभ्‍यास ऐसे वक्‍त पर हो रहा है जब पूर्वी लद्दाख में चीन से तनाव जारी है।

यह भी पढ़े— मध्यप्रदेश:महिला मंत्री इमरती देवी के अपमान से नाराज शिवराज आज करेंगे मौनव्रत,भड़के ज्योतिरादित्य सिंधिया

दरअसल, चीन इस युद्धाभ्यास को लेकर सशंकित रहा है। उसे लगता है कि इसका आयोजन हिंद-प्रशांत क्षेत्र में उसके दबदबे पर लगाम लगाने के लिए किया जाता है। मालाबार युद्धाभ्यास की शुरुआत वर्ष 1992 में अमेरिकी और भारतीय नौसेना के बीच हिंद महासागर में द्विपक्षीय अभ्यास के तौर पर हुई थी। समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले कई वर्षों से ऑस्ट्रेलिया इसमें शामिल होने को लेकर रुचि दिखा रहा था।

उल्‍लेखनीय है कि इस युद्धाभ्यास में पहले अमेरिका और भारत ही हिस्सा लेते थे। साल 2015 में जापान को भी इसमें शामिल किया गया और अब ऑस्ट्रेलिया के इसमें जुड़ने से क्वाड गठबंधन के सभी चारों देश एक सामरिक मंच पर आ गए हैं। मालाबार नौसैनिक युद्धाभ्यास की शुरुआत एक सामान्‍य नौसेना ड्रिल के तौर पर हुई थी लेकिन मौजूदा वक्‍त में यह इंडो-पैसिफिक रणनीति का अहम हिस्सा होता नजर आ रहा है। इससे हिंद महासागर में चीन की आक्रामकता पर लगाम लगेगी। 

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |