राष्ट्रीय

पश्चिम बंगाल के मंत्री जाकिर हुसैन पर बम हमला मामले में CID ने दो लोगों को किया गिरफ्तार,पूछताछ जारी

Khaskhabar/पश्चिम बंगाल के श्रम राज्यमंत्री जाकिर हुसैन की पिछले सप्ताह बुधवार (17 फरवरी) की रात मुर्शिदाबाद के निमतीता स्टेशन पर बम हमले के मामले में जांच कर रही सीआईडी ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान अबू समाद और शहीदुल इस्लाम उर्फ केमिकल शहीदुल के तौर पर हुई हैं।

Khaskhabar/पश्चिम बंगाल के श्रम राज्यमंत्री जाकिर हुसैन की पिछले सप्ताह बुधवार (17 फरवरी) की रात मुर्शिदाबाद के निमतीता स्टेशन पर बम हमले के मामले में जांच कर रही सीआईडी ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान अबू समाद और शहीदुल इस्लाम उर्फ केमिकल शहीदुल के तौर पर हुई हैं।
Posted by khaskhabar

भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज

सीआईडी ने मुर्शिदाबाद के निम्तिता रेलवे स्टेशन पर किए गए बम हमले में राज्य के मंत्री जाकिर हुसैन और 20 अन्य लोगों के घायल होने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को इस बारे में बताया।उन्होंने बताया कि दोनों पर विस्फोटक पदार्थ कानून, 1908 और हत्या के प्रयास समेत भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। अधिकारी ने बताया, ‘आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए दोनों को अदालत में पेश किया जाएगा।’

वह और अन्य लोग गंभीर रूप से घायल

सीआईडी के अधिकारी जांच के तहत राज्य में विभिन्न जगहों पर छापेमारी कर रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस के विधायक और राज्य के श्रम मंत्री हुसैन 17 फरवरी को करीब 10 बजे रात में कोलकाता जाने के लिए प्लैटफॉर्म संख्या दो पर ट्रेन के आने का इंतजार कर रहे थे। तभी यह विस्फोट हुआ, जिसमें वह और अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। वरिष्ठ तृणमूल नेता और अन्य घायलों का शहर के सरकारी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

आधिकारिक व्हाट्सएप ग्रुप में इस बारे में शुक्रवार दोपहर बयान जारी किया

सीआईडी के आधिकारिक व्हाट्सएप ग्रुप में इस बारे में शुक्रवार दोपहर बयान जारी किया गया है। इसमें बताया गया है कि इन दोनों को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया गया है। इनसे पूछताछ कर जगह-जगह छापेमारी हो रही है ताकि इनके अन्य साथियों के बारे में भी पता लगाया जा सके। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि हमले का मास्टरमाइंड कोई और है। उसी के बारे में पता लगाने के लिए लगातार पूछताछ और धर पकड़ हो रही है। वारदात वाले दिन रेल पुलिस की नजर बचाकर इन लोगों ने बैग में भरकर रिमोट बम को कैसे स्टेशन पर रख दिया और किसके कहने पर मंत्री के आने पर विस्फोट किया, इस बारे में पूछताछ हो रही है।

कोलकाता से वापस लौट रहे जाकिर हुसैन रात के समय मुर्शिदाबाद के निमतीता स्टेशन पर उतरे

सीआईडी सूत्रों ने दावा किया है कि वारदात में ये कुछ और लोग शामिल हो सकते हैं जिनके बारे में फिलहाल पूछताछ की जा रही है। गौर हो कि गत 17 फरवरी को कोलकाता से वापस लौट रहे जाकिर हुसैन रात के समय मुर्शिदाबाद के निमतीता स्टेशन पर उतरे थे। उनके स्वागत के लिए समर्थक और परिवार के सदस्य पहुंचे थे। जैसे ही वह सभी लोगों के साथ आगे बढ़ रहे थे, अचानक एक ब्लास्ट हुआ था जिसकी चपेट में मंत्री समेत 26 लोग आ गए थे।

यह भी पढ़े—अंत्योदय कार्ड धारकों को तीन महीने की एक साथ चीनी देगी योगी सरकार, मार्च से 18 रुपये किलो मिलेगी चीनी

विस्फोट के लिए आईईडी का इस्तेमाल किया गया

कुछ लोगों के हाथ पैर और शरीर के अन्य अंग उड़ गए हैं। घटना में मंत्री भी जख्मी हुए हैं और मुर्शिदाबाद से लाकर कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। जांच में पता चला था कि विस्फोट के लिए आईईडी का इस्तेमाल किया गया था। जाहिर सी बात है गिरफ्तार किए गए दोनों लोग और इनके साथी आईईडी बम बनाने में माहिर हैं और इनके संबंध आतंकी अथवा उग्रवादी संगठनों से हो सकते हैं। फिलहाल सीआईडी अधिकारियों ने इस पर बहुत कुछ नहीं बताया है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|