राष्ट्रीय

जेल बंदी रिहाई मंच द्वारा कांग्रेस सरकार पर आरोप बैनर तले खोला आदिवासियों ने मोर्चा

Khaskhabar/जेल बंदी रिहाई मंच द्वारा कांग्रेस सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए लंबे समय से नक्सली मामले में जेल में बंद ग्रामीणों को रिहा करने की मांग को लेकर एक बार फिर जेल बंदी रिहाई मंच के बैनर तले हजारों की तादाद में एक जुट हुए आदिवासी ग्रामीण।

Khaskhabar/जेल बंदी रिहाई मंच द्वारा कांग्रेस सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप
Posted by khaskhabar

जिसके लिए हर क्षेत्र से ग्रामीण आंदोलन में शामिल होने के लिए दो दिन पूर्व से ही आदिवासी ग्रामीण पैदल ही निकल पड़े थे। श्यामगिरी नाहडी ककड़ी और अन्य क्षेत्रों से ग्रामीण अपना दाना पानी लेकर निकल पड़े थे पैदल। सूत्रों के मुताबिक पुलिस प्रशासन ने कोविड 19 को देखते हुए जिले के सभी थानों को अलर्ट कर दिया गया था और मुख्यालय से रात को ही फोर्स रवाना कर दी गई थी जिससे कि ग्रामीणों की भीड़ को अलग-अलग क्षेत्र में रोका जा सके पुलिस पूरी तरह से अपनी तैयारी कर रखी थी, और जगह-जगह पर बैरिकेड लगाएं गए थे ।

Khaskhabar/जेल बंदी रिहाई मंच द्वारा कांग्रेस सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप
Posted by khaskhabar

अगर इतनी बड़ी तादाद में भीड़ इकट्ठा होती है तो कोरोना काल में धारा 144 और सोशल डिस्टेंस नियम एक तरफ रह जाएंगे जिसके लिए प्रशासन किस प्रकार की तैयारी कर रखा है यह देखने वाली बात होगी । पुलिस प्रशासन ने सुबह से ही जवान महिला कमांडो सीआरपीएफ बटालियन की टीम हर क्षेत्रों में अंदरूनी क्षेत्रों से आए ग्रामीणों को रोकने में कामयाब हुई और जगह-जगह उन्हें रोककर वापस रवाना किया गया।

यह भी पढ़े —IGNOU: इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) की अंतिम वर्ष परीक्षाएं 17 सितंबर से शुरू

कोरोना काल में निर्दोष आदिवासी ग्रामीण जो नक्सली मामले में लंबे समय से सजा काट रहे

वहीं दूसरी ओर जेल बंदी रिहाई मंच द्वारा कोरोना काल में निर्दोष आदिवासी ग्रामीण जो नक्सली मामले में लंबे समय से सजा काट रहे हैं उनको लेकर 10 सूत्री मांगों को लेकर श्री राज्यपाल महोदय के नाम ज्ञापन बनाया, जिसमें कोरोना संकट में जेल बंदियों की दयनीय स्थिति को लेकर ध्यान आकर्षित कराया।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar
फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|