राष्ट्रीय

खेती और किसानों ने देश के विकास में दिया महत्वपूर्ण योगदान,राष्ट्रपति का लोहड़ी, संक्रांति पर देशवासियों के नाम संदेश

khaskhabar/राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को कहा कि खेती और किसानों ने देश के विकास और प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। राष्ट्रपति ने अपने देशवासियों के नाम संदेश में कहा कि लोहड़ी, मकर संक्रांति, पोंगल, भोगली बिहु, उत्तरायण और पौष पर्व के अवसर पर सभी देशवासियों को शुभकामनाएं। कोविंद ने कहा, ये त्योहार हमारे किसानों के अथक परिश्रम और उद्यम को सम्मान देने का भी अवसर होते हैं।

khaskhabar/राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को कहा कि खेती और किसानों ने देश के विकास और प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। राष्ट्रपति ने अपने देशवासियों के नाम संदेश में कहा कि लोहड़ी, मकर संक्रांति, पोंगल, भोगली बिहु, उत्तरायण और पौष पर्व के अवसर पर सभी देशवासियों को शुभकामनाएं। कोविंद ने
Posted by khaskhabar

कहा- त्योहार पूरे भारत में अलग-अलग रूपों में मनाए जाते हैं

राष्ट्रपति भवन द्वारा जारी बयान के अनुसार, कोविंद ने कहा कि ये त्योहार पूरे भारत में अलग-अलग रूपों में मनाए जाते हैं। लेकिन यह नई फसल के कटने से जुड़ा आनंद और उत्सव का अवसर होता है। उन्होंने कहा कि पवित्र स्नान, विशेष पूजा, दान-पुण्य और अन्य अनुष्ठानों के जरिये लोग ये त्योहार मनाते हैं।

khaskhabar/राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को कहा कि खेती और किसानों ने देश के विकास और प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। राष्ट्रपति ने अपने देशवासियों के नाम संदेश में कहा कि लोहड़ी, मकर संक्रांति, पोंगल, भोगली बिहु, उत्तरायण और पौष पर्व के अवसर पर सभी देशवासियों को शुभकामनाएं। कोविंद ने
Posted by khaskhabar

त्योहारों से समृद्धि व खुशहाली बढ़ने की कामना की

यह भी पढ़े—खटकड़ टोल पर आज कृषि कानूनों की कापियां जलाकर लोहड़ी मनाएंगे किसान

राष्ट्रपति ने अपने संदेश में कहा कि लोहड़ी मकर संक्रांति पोंगल भोगली बिहु उत्तरायण और पौष पर्व के अवसर पर सभी देशवासियों को शुभकामनाएं। कोविंद ने कहा ये त्योहार हमारे किसानों के अथक परिश्रम और उद्यम को सम्मान देने का भी अवसर होते हैं।राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘ खेती और किसानों ने देश के विकास और प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। भारत में अलग-अलग नाम और रूप में मनाए जाने वाले ये त्योहार हमारे किसानों के अथक परिश्रम और उद्यम को सम्मान देने का भी अवसर होते हैं। ’’ उन्होंने इन त्योहारों के माध्यम से लोगों में परस्पर शांति और एकता की भावना और मज़बूत होने तथा देश में समृद्धि व खुशहाली बढ़ने की कामना की।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|