उत्तर कोरिया
दुनिया

कोरोना महामारी के दौरान भारत ने उत्तर कोरिया को भेजी 1 मिलियन डॉलर की मेडिकल सप्लाइज, सौपी दवाइयों की खेप

विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) से प्राप्त अनुरोध के जवाब में भारत ने उत्तर कोरिया में लगभग 1 मिलियन अमरीकी डॉलर की चिकित्सा सहायता बढ़ाई है।

भारत ने डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया (डीपीआरके) में चिकित्सा आपूर्ति की स्थिति की कमी के प्रति संवेदनशील है और एंटी-ट्यूबरकुलोसिस दवाओं के रूप में 1 मिलियन अमरीकी डालर की मानवीय सहायता देने का फैसला किया है, एमईए ने कहा।

उत्तर कोरिया
Posted By – khaskhabar

डीपीआरके में चल रहे डब्ल्यूएचओ एंटी-ट्यूबरकुलोसिस प्रोग्राम के तत्वावधान में यह चिकित्सा सहायता है।

MEA के प्रवक्ता ने कहा कि भारत उत्तर कोरिया में “चिकित्सा आपूर्ति की स्थिति की कमी के प्रति संवेदनशील” है और तपेदिक से लड़ने के लिए दवाओं के रूप में $ 1 मिलियन की मानवीय सहायता देने का फैसला किया है

यह भी पढ़े — राममंदिर के लिए मोरारी बापू ने माँगा था 5 करोड़ का चंदा, 5 दिन में ही मिल गए 16 करोड़

भारत लंबे समय से उत्तर कोरिया के पाकिस्तान के साथ रक्षा प्रौद्योगिकी सहयोग को लेकर चिंतित है। नई दिल्ली, सूत्रों के अनुसार, संदेह है कि प्योंगयांग-इस्लामाबाद गुप्त रक्षा सहयोग, जो 1990 के दशक के मध्य में आपूर्ति करता था |

भारत ने उत्तर कोरिया को 10लाख डॉलर ...
posted by – khaskhabar

भारत उन पहले देशों में से एक है जिसने नार्थ कोरिया को देश का दर्जा दिया था और भारत ने बीते वर्षो में भी नार्थ कोरिया को टाइम टाइम पर फ़ूड सप्लाइज और मेडिकल असिस्टेंस की मदद भेजता रहा है | और काफी सैंक्शंस के बाद भी भारत नार्थ कोरिया से लगातार ट्रेड करता रहा है |

डब्ल्यूएचओ के प्रतिनिधि की उपस्थिति में डीपीआरके अतुल मल्हारी गोत्सुर्वे को भारतीय राजदूत द्वारा दवाओं की खेप डीपीआरके अधिकारियों को सौंप दी गई।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar
फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है।