राष्ट्रीय

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सभी विश्वविद्यालयों मे अगस्त तक सभी परीक्षाएं रद

कोरोना के देश भर में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए फिलहाल जुलाई में अब कोई भी परीक्षा नहीं होगी।दरहसल कोरोना के मामलो में पिछले कुछ दिनों से काफी ज्यादा उछाल आया है |

जिस तरह भारत में इसका मीटर बढ़ रहा है वह काफी चिंताजनक है |वही मानव संसाधन विकास मंत्रालय का साफ मानना है कि छात्रों की सुरक्षा को दांव पर लगाकर परीक्षाएं नहीं कराई जाएंगी।

कोरोना
source-google image

शनिवार को देश में वोर्ल्डोमेटेर के आकड़ो के अनुसार कोरोना संक्रमित मरीजों का अकड़ा 527,738 पहुंच गया |वही मौत का अकड़ा 16,088 जिसमे कुल 308,928 लोग अब तक ठीक हुए है |

इस बात से यह अनुमान लगाया जा रहा है की जुलाई में इसके मामले चरम पर होंगे |लगाए जा रहे अनुमानों को देखते हुए फिलहाल जुलाई में अब कोई भी परीक्षा नहीं होगी।सीबीएसई के द्वारा बाकी बची परीक्षाओं को रद करने के ऐलान के बाद मंत्रालय ने जुलाई में प्रस्तावित अन्य परीक्षाओं को लेकर भी ऐसे ही संकेत दिए है|

कोरोना
source-google image

साथ ही इसे लेकर नए सिरे से समीक्षा शुरू कर दी है।इसी सिलसिले में बातचीत के लिए सोमवार को उच्चस्तरीय बैठक बुलाई गई है।जिसमें इन्हें टालने या रद करने को लेकर निर्णय किया जाएगा।

विश्वविद्यालयों की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को भी रद

विश्वविद्यालयों की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को भी रद करने की संभावना है |फिलहाल जुलाई में प्रस्तावित जिन परीक्षाओं को रद या स्थगित किया जा सकता है|उनमें से विश्वविद्यालयों की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं के साथ नीट, जेईई मेंस आदि परीक्षाएं शामिल है|जिसमे से नीट व जेइइ का अभी कुछ कह नहीं सकते लेकिन अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को रद करने की पूरी संभावना है|

यह भी पढ़े-यु.पी के औरैया शुक्रवार को तालाब में डूबकर गयी एक मासूम की जान

इन छात्रों को पिछले सेमेस्टर की परीक्षाओं और आंतरिक आंकलन के आधार पर अंक देकर प्रमोट किया जा सकता है|वहीं नया शैक्षणिक सत्र भी सितंबर से शुरू होना है परन्तु हालात को देखते हुए शैक्षणिक सत्र भी अब अक्टूबर तक खिसकने की असंका है |