कारोबार

कृषि,मैन्युफैक्चरिंग एवं सेवा छेत्र में आयी तेजी ,राहत पैकेज का दिख रहा असर अर्थव्यवस्था मे आ रही है उछाल

भारत की गतिविधियां एक बार फिर उछाल आ रही है ,कृषि से लेकर मैन्यूफैक्चरिंग एवं सेवा क्षेत्र की सभी गतिविधियां तेज हो गई हैं| इस साल मई में 8.98 लाख करोड़ के ई-वे बिल जेनरेट हुए जबकि इस साल अप्रैल में मात्र 3.9 लाख करोड़ के ई-वे बिल जेनरेट हुए |वही बिल के मूल्य में 130 फीसद की बढ़ोत्‍तरी भी इस बात के संकेत दे रही है|

Nirmala Sitharaman press conference LIVE: Government announces Rs ...
source-google image

वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक मई माह में पेट्रोलियम उत्पाद की खपत में इस साल अप्रैल के मुकाबले 47 फीसद की बढ़ोत्‍तरी रही।उनका कहना है कि लॉकडाउन के साथ ही लोगों की जान बचाने के लिए जो प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना बनाई गयी और फिर जान के साथ जहान की रक्षा के लिए आत्मनिर्भर भारत स्कीम के तहत 20.9 लाख करोड़ का जो राहत पैकेज दिए गए हैं, उसका असर अब देश की अर्थव्यवस्था पर दिखने लगा है।कृषि समेत सभी अलग अलग छेत्रो मे भी अर्थव्यवस्था ने अब तेजी पकड़ ली है |

Nirmala Sitharaman PC LIVE: FM to announce stimulus package 2.0 ...
source- google image

वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल के मुकाबले बिजली की खपत में होने वाली गिरावट भी कम होती जा रही है। इस साल अप्रैल में बिजली की खपत में पिछले साल अप्रैल के मुकाबले 24 फीसद काम थी|

वही इस साल 16 जून तक 382 लाख टन की गेहूं की रिकार्ड खरीदारी की गई।जिससे 42 लाख किसानों को फायदा पंहुचा है|उन्हें न्यूनतम समर्थन मूल्य के रूप में 73,500 करोड़ रुपए दिए गए। वही इस साल अप्रैल में 6.54 करोड़ टन माल की ढुलाई की गई थी| जून के पहले तीन सप्ताह में ही 49.8 करोड़ रुपए का टोल कलेक्शन हो चुका है।जो अनुमान से काफी हद तक ज्यादा है

यह भी पढ़े-पतंजलि ने लांच की कोरोना की आयुर्वेदिक दवा “कोरोनिल”, आयुर्वेद के आगे एलॉपथी फेल