राष्ट्रीय

किसान आंदोलन में 6 घंटे फंसी रही दिल्ली जा रही बारात,लॉकडाउन में भी शादी हो गई थी कैंसिल

Khaskhabar/किसानों के आंदोलन के कारण लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सड़कों पर आंदोलन की वजह से एक बारात रास्ते में ही फंस गई। बारात लुधियाना से दिल्ली के मुकुंदपुर क्षेत्र में जा रही थी। केंद्र के 3 कृषि कानूनों को लेकर किसानों का विरोध जारी है और आज किसान विरोध में सड़क पर उतर आए हैं लेकिन इस वजह से आम लोगों की खासी दिक्कत हो रही है।प्रदर्शन की वजह से एक बारात जाम में फंस गई और एक-दो नहीं बल्कि 6 घंटे तक रास्ते में फंसी रही।

Khaskhabar/किसान के आंदोलन के कारण लोगों को खासी दिक्कतों का सामना
Posted by khaskhabar

परिवार के लोगों ने एकादशी के दिन अपने लाडले की शादी की तैयारी की थी, लेकिन आंदोलन की वजह से उन्हें खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. बारात में आए लोग घंटों परेशान रहे। अमित की शादी एकादशी को होनी तय थी, लेकिन जाम के कारण बारात यहीं करनाल में ही फंस गई।

कार में दूल्हा बनकर बैठे अमित बेहद हैरान और परेशान

दूल्हा बनकर घर से निकले अमित आंदोलन की वजह से अपने परिजनों के साथ ही रास्ते में फंसे रह गए। कार में दूल्हा बनकर बैठे अमित बेहद हैरान और परेशान हैं। कोरोना महामारी की वजह इनकी पहले भी शादी कैंसिल हो चुकी है। अब दूसरी बार भी इनकी शादी पर किसान आंदोलन ग्रहण बन गया।

Khaskhabar/किसान के आंदोलन के कारण लोगों को खासी दिक्कतों का सामना
Posted by khaskhabar

रात 12 बजे के बाद दिल्ली के लिए रवाना हुई बारात उधर, बुधवार रात 10 बजे के बाद तक पुलिस जाम खुलवाने की कोशिश करता रही। काफी मशक्कत के बाद जाम खुलवाया जा सका। इसके बाद अमित और उनकी बारात में शामिल लोग 12 बजे के बाद दिल्ली के लिए रवाना हो सके। इसके बाद सभी ने राहत महसूस की।

यह भी पढ़े—राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जनप्रतिनिधियों आचरण को लेकर जताई निराशा,कहा-चुनने वाली जनता को होती है पीड़ा

सोनीपत-पानीपत-हल्दाना बॉर्डर पर भारी संख्या में पुलिस की तैनाती

दिल्ली की ओर बढ़ने की कोशिश कर रहे किसान बता दें, किसान दिल्ली करनाल हाइवे से दिल्ली की ओर बढ़ने की कोशिश कर रहे हैं। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं। पुलिस वॉटर कैनन का इस्तेमाल कर रही है। सोनीपत-पानीपत-हल्दाना बॉर्डर पर भारी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है। मिट्टी और भारी पत्थर डाल कर जीटी रोड को रोका गया है। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि आंदोलन करना सभी का अधिकार है, लेकिन आपकी वजह से सड़क पर चलने वालों का अधिकार प्रभावित नहीं होना चाहिए।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |