राष्ट्रीय

कश्मीर से छुट्टी पर लौटने वाले सीआरपीएफ जवानों को मिलेगी एमआई-17 की सवारी,पुलवामा जैसे हमले को रोकने के लिए फैसला

Khaskhabar/पुलवामा जैसे आतंकी हमलों से बचने के लिए केंद्र सरकार ने कश्मीर में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों को छुट्टी पर जाने पर एमआई-17 हेलिकॉप्टर की सुविधा मुहैया कराने का फैसला लिया है। आईईडी धमाकों से बचने के लिए कश्मीर से छुट्टी पर जाने वाले जवानों को एमआई-17 से नजदीकी गंतव्य तक छोड़ा जाएगा।

Khaskhabar/पुलवामा जैसे आतंकी हमलों से बचने के लिए केंद्र सरकार ने कश्मीर में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों को छुट्टी पर जाने पर एमआई-17 हेलिकॉप्टर की सुविधा मुहैया कराने का फैसला लिया है। आईईडी धमाकों से बचने के लिए कश्मीर से छुट्टी पर जाने वाले जवानों को एमआई-17 से नजदीकी
Posted by khaskhabar

हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि यह सुविधा कहां तक मिलेगी लेकिन अधिकारियों का दावा है कि संभवत: यह सुविधा जम्मू या श्रीनगर एयरपोर्ट तक के लिए होगी। केंद्रीय गृहमंत्रालय ने इस फैसले को लागू कर दिया है और सीआरपीएफ ने इस संदर्भ में बृहस्पतिवार को आदेश भी जारी किया।

काफिले पर आईईडी हमले के जोखिम को कम करने के लिए निर्णय

यह निर्णय गृह मंत्रालय (एमएचए) द्वारा लागू किया गया था। गुरुवार को सीआरपीएफ द्वारा आदेश भी जारी कर दिया गया है।आदेश में कहा गया है, “मैग्नेटिक आईईडी और आरसीआईईडी के खतरे के मद्देनजर काफिले पर आईईडी हमले के जोखिम को कम करने के लिए छुट्टी पर घर लौट रहे जवानों को एमआई-17 हेलीकॉप्टर के माध्यम से नजीक के गंतव्य तक पहुंचाया जाएगा। सप्ताह में तीन दिन परिवहन के लिए निर्धारित किए गए हैं।” CRPF ने अपने जवानों को एक पत्र जारी किया जिसमें हेलीकॉप्टर सुविधा प्राप्त करने के प्रारूप का विवरण दिया गया है।

सड़क मार्ग से यात्रा के दौरान हमले के खतरे से बचाने में मदद

14 फरवरी 2019 को पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने दक्षिण कश्मीर में पुलवामा के नजदीक जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर सीआरपीएफ के काफिले को निशाना बनाया था। इस हमले में 40 जवान शहीद हुए थे। यह नई सुविधा सुरक्षा बलों को सड़क मार्ग से यात्रा के दौरान हमले के खतरे से बचाने में मदद करेगी।

यह भी पढ़े—पश्चिम बंगाल के मंत्री जाकिर हुसैन पर बम हमला मामले में CID ने दो लोगों को किया गिरफ्तार,पूछताछ जारी

मांग लंबे समय से थी लंबित

पत्र में कहा गया है कि जवानों को हेलिकॉप्टर सुविधा लेने के लिए अपनी यूनिट को सूचना देनी होगी और इस संदर्भ में एक दिन पहले अनुरोध देना होगा। यह मांग लंबे समय से लंबित थी, जिसे अब लागू किया गया है। अब जवान और अधिकारी हफ्ते में तीन बार बीएसएफ एमआई-17 के जरिये आसानी से यात्रा कर सकेंगे।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|