राष्ट्रीय

आरोप अकेला पाकर डॉक्टर ने की दुष्कर्म की कोशिश फूटा युवती का गुस्सा, सबके सामने चप्पल से की पिटाई

Khaskhabar/मामले को लेकर केवटी सीएचसी में पदस्थापित एक चक्षु सहायक पर आरोप है कि डॉक्टर ने अपने निजी क्लीनिक पर नाबालिग से दुष्कर्म का प्रयास किया और नाबालिग से 60 हजार रुपये नौकरी के नाम पर लिया था।जिले के केवटी थानाक्षेत्र अंतर्गत एक नाबालिग लड़की संग दुष्कर्म के प्रयास का मामला प्रकाश में आया है। साथ ही सरकारी नौकरी के नाम पर ठगी का भी आरोप लगाया गया है।

Khaskhabar/मामले को लेकर केवटी सीएचसी में पदस्थापित एक चक्षु सहायक पर आरोप है कि डॉक्टर ने अपने निजी क्लीनिक पर नाबालिग से दुष्कर्म का प्रयास किया और नाबालिग से 60 हजार रुपये नौकरी के नाम पर लिया था।जिले के केवटी थानाक्षेत्र अंतर्गत एक नाबालिग लड़की संग दुष्कर्म के प्रयास का मामला प्रकाश में आया है। साथ
Posted by khaskhabar

छेड़खानी का आरोप में की पिटाई

लड़की के चिल्लाने की आवाज सुनकर आसपास के लोग पहुंचे। चक्षु सहायक के साथ लड़की सहित अन्य लोगों ने जमकर मारपीट की। स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना केवटी पुलिस को दी। सूचना पाकर केवटी थानाध्यक्ष शिव कुमार यादव ने दलबल के साथ मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराया और दोनों को हिरासत में लेकर केवटी थाना ले आयी। इधर आरोपी चक्षु सहायक डॉक्टर राजन ने दुष्कर्म के प्रयास करने के आरोप को गलत बताया है लेकिन, नौकरी के नाम पर 30 हजार रुपये लेने की बात को स्वीकारा है।

डॉक्टर ने सभी आरोपों को बताया गलत

इधर, आरोपी डॉ. राजन ने छेड़खानी के आरोप बेबुनियाद बताते हुए कहा कि उन्होंने युवती से नौकरी दिलाने के नाम पर तीस हजार रुपये लिए थे. लेकिन उन्होंने उसके साथ किसी प्रकार की छेड़खानी नहीं की है. फिलहाल, लोगों द्वारा केवटी थाना की पुलिस को सूचना देने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपित डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस पूरे मामले में कुछ भी बोलने से इनकार कर रही है. हालांकि, इस पूरी घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

यह भी पढ़ेगुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी द्वारा छह नगर निगमों को जल्द मिलेगी मेट्रो की सौगात

आरोपी ने 30 हजार रुपये लेने की बात कबूली

हालांकि डॉक्टर राजन ने कैमरे पर 30 हजार रुपये लेने की बात स्वीकार कर करते हुए कान पकड़ कर माफ़ी मांगी और दुष्कर्म की कोशिश से इनकार किया। वहीं मामले की जांच में आए सदर एसडीपीओ अनोज कुमार ने बताया कि ये डॉक्टर अन्धापन नियंत्रण कार्यक्रम के तहत केवटी प्रखंड में तैनात है। डॉक्टर ने अपने निजी क्लीनिक पर लड़की को तरह तरह के प्रलोभन देकर उसके साथ छेड़खानी करते थे, जिसका लड़की विरोध करती थी। आज लड़की ने उसकी पिटाई कर दी।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|