दुनिया

अमेरिका ने लगाया चीन के राजनेताओ पर प्रतिबन्ध, तिलमिलाए चीन ने दे डाली जवाबी कार्यवाही की धमकी

वाशिंगटन | अमेरिका के तीन चीन के राजनेताओ पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद चीन तिलमिलाया हुआ है|इससे गुस्‍साए चीन ने अमेरिका को जवाबी कार्रवाई की धमकी तक दे डाली है। इस कार्रवाई पर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने अमेरिकी कार्रवाई को परस्‍पर संबंधों के लिए हानिकारक बताया है और चीन के आंतरिक मामलो में दखल न देने की बात की |

.
sources — India.com

अमेरिका ने मुस्लिम बहुल शिनजियांग प्रांत में उइगुर मुस्लिम, कजाक तथा अन्य जातीय अल्पसंख्यकों के मानवाधिकारों का उल्लंघन करने को लेकर जिन नेताओ पर प्रतिबंध लगाया है उनमें चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी से जुड़े चेन कुआंगू, झु हाइलुन और वांग मिंगशान शामिल हैं और ये सभी चीन के पोलित ब्यूरो के सदस्य है और चेन अभी तक प्रतिबंधित किये गए सर्वोच्च रैंक के अधिकारी है | और इस प्रतिबन्ध के बाद वो और उनके परिवार के सदस्य अमेरिका में प्रवेश नहीं कर सकते है और कम्युनिस्ट पार्टी के कई दूसरे अधिकारियों के भी अमेरिका आने पर रोक लगा दी गई है। हाल के महीनों में ट्रंप प्रशासन ने कोरोना महामारी और हांगकांग समेत उइगरों व दूसरे अल्पसंख्यक समुदाय को हिरासत में रखे जाने को लेकर चीन के प्रति सख्त रवैया अपना रखा है।

यह भी पढ़े — गोगरा-हॉट स्प्रिंग्स से पीछे हटी चीनी सेना, आज फिर होगी उच्च स्तर की वार्ता

Bill for ban on visa of China officials passed in US senate - GNS News
source – google

चीनी अधिकारियों पर प्रतिबन्ध अमेरिका के ग्लोबल मैग्निट्स्की एक्ट के अनुसार लगाया गया है और इस एक्ट का उपयोग अमेरिका मानव अधिकार का उलंघन करने वालो पर कार्यवाही होती है |इगर मुस्लिमों के खिलाफ मानवाधिकार उल्लंघन को लेकर काफी समय से अमेरिका ने बेहद सख्‍त रवैया अपनाया हुआ है। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने अपने बयान में एक दिन पहले ही बता दिया था कि कम्युनिस्ट पार्टी की शिनजियांग इकाई के सचिव चेन क्वांगो और दो अन्य अधिकारियों को काली सूची में डाल दिया गया है।